तेलुगु अभिनेता राणा दग्गुबाती अपने स्टार्टअप के साथ करेंगे मेटावर्स में एंट्री


Ikonz के को-फाउंडर भारतीय मूल के अमेरिकी आंत्रप्रेन्योर हैं

खास बातें

  • Ikonz को मार्च में इनवेस्टमेंट फर्मों से फंडिंग मिली थी
  • यह स्टार्टअप देश की कहानियों को मेटावर्स के जरिए बताना चाहता है
  • राणा के इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स भी इस फर्म के पास होंगे

साउथ सिनेमा के पॉपुलर अभिनेता राणा दग्गुबाती Metaverse में उतरने की तैयारी में हैं। इसके लिए उन्होंने ज्वाइंट वेंचर Ikonz बनाया है. Ikonz एक मेटावर्स फर्म है जो सेलेब्रिटीज, म्यूजिशियंस और कलेक्टिबल्स खरीदने वाले लोगों को उनके एसेट्स को मैनेज करने में मदद करेगी. Ikonz  के को-फाउंडर भारतीय मूल के अमेरिकी आंत्रप्रेन्योर अभिनव वर्मा कालिडिंडी हैं. 

देश की प्रीमियम एंटरटेनमेंट इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टीज (IP), ब्रांड्स और कहानियों को मेटावर्स पर लाने के लिए यह स्टार्टअप अमर चित्रकथा, टिंकल और एंटरटेनमेंट से जुड़े अन्य ब्रांड्स के साथ टाई-अप कर रहा है. राणा के इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स भी इस फर्म के पास होंगे जिनमें फिल्म प्रोडक्शन और डिस्ट्रीब्यूशन करने वाली सुरेश प्रोडक्ट्स के तहत बनी फिल्में शामिल हैं. इस बारे में राणा ने हाल ही में ट्वीट कर जानकारी दी थी. उन्होंने कहा था कि वह Ikonz के को-फाउंडर के तौर एक नए सेगमेंट में शुरुआत कर रहे हैं. Ikonz को मार्च में वेंचर कैपिटल फर्म विलेज ग्लोबल और टेक्नोलॉजी इनवेस्टमेंट फर्म वुडस्टॉक से फंडिंग मिली थी. विलेज ग्लोबल में Mark Zuckerberg, जेफ बेजोस और बिल गेट्स का इनवेस्टमेंट है. 

यह स्टार्टअप देश की कहानियों को NFT और मेटावर्स के जरिए दुनिया को बताना चाहता है. बहुत से ग्लोबल ब्रांड्स मेटावर्स में उतरने की तैयारी कर रहे हैं. रेस्टोरेंट चेन McDonald की योजना एक वर्चुअल रेस्टोरेंट लॉन्च करने की है जिसमें वास्तविक और वर्चुअल गुड्स शामिल होंगे. इसमें होम डिलीवरी वाले फूड आइटम्स भी मौजूद होंगे. बेकरी और कैफे चेन Panera Bread की ओर से भी मेटावर्क में उतरने के लिए इसी तरह का एक ट्रेडमार्क जमा किया गया है. ग्लोबल बैंकों में से एक जेपी मॉर्गन ने ब्लॉकचेन-बेस्‍ड वर्चुअल वर्ल्ड ‘डीसेंट्रालैंड’ में एक लाउंज लॉन्च किया है. ऐसा करके यह मेटावर्स में पहला प्रमुख बैंक बन गया है.

अमेरिका के लोकप्रिय स्नैक ब्रांड्स में से एक Slim Jim ने भी मेटावर्स में उतरने की योजना बनाई है. इसके लिए ‘Slim Jim’, ‘Meataverse’ और ‘Long Boi Gang’ के तीन नामों के लिए लाइसेंस का आवेदन किया गया है. इस कंपनी की शुरुआत 1928 में हुई थी और अब यह मेटावर्स के लिए वर्चुअल गुड्स, फूड प्रोडक्ट्स और NFT से जुड़ी सर्विसेज लाने की तैयारी कर रही है. लोगों को केवल वर्चुअल तरीके से Slim Jim के फूड प्रोडक्ट्स को खरीदने, बेचने, ट्रेड और कलेक्ट करने की सुविधा मिलेगी. 

यह भी पढ़ें



Source link

Leave A Reply

Your email address will not be published.