सोशल मेटावर्स प्लेटफॉर्म के वेब वर्जन पर काम कर रही Meta


मेटा ने डिजिटल टोकन लॉन्च करने की भी योजना बनाई है

खास बातें

  • यह अभी केवल Quest VR हेडसेट्स के साथ चलता है
  • इसे मोबाइल फोन्स और बाद में गेम कंसोल्स के लिए लाया जा सकता है
  • इससे जुड़ी ट्रांजैक्शंस से अधिक कमीशन लेने पर Meta की आलोचना हो रही है

फेसबुक के मालिकाना हक वाली Meta अपने Horizon Worlds सोशल मेटावर्स प्लेटफॉर्म के वेब वर्जन पर काम कर रही है. कंपनी का मनाना है कि इससे प्लेटफॉर्म का दायरा बढ़ जाएगा क्योंकि यह अभी केवल Quest VR हेडसेट्स के साथ चलता है. इससे यह वर्चुअल एक्सपीरिएंस अधिक लोगों की पहुंच में होगा लेकिन इससे जुड़ी ट्रांजैक्शंस से 47.5 प्रतिशत हिस्सा लेने की Meta की योजना की आलोचना हो रही है. 

Meta के CTO Andrew Boz ने ट्वीट के जरिए Horizon Worlds का वेब वर्जन लाने की योजना का खुलासा किया. उन्होंने कहा कि वेब वर्जन के लिए Meta ने 25 प्रतिशत कमीशन लेने का फैसला किया है. यह Horizon Worlds को Quest VR हेडसेट के जरिए एक्सेस करने वाले यूजर्स को आइटम्स बेचने वालों से ली जाने वाली 47.5 प्रतिशत कमीशन से काफी कम है. Horizon Worlds के वेब वर्जन के बारे में अधिक जानकारी नहीं दी गई है. इस वर्ष के अंत तक इसे मोबाइल फोन्स और बाद में गेम कंसोल्स के लिए लाया जा सकता है. 

Boz ने कमीशन के अधिक रेट का पक्ष लेते हुए कहा कि Roblox और YouTube सहित अन्य प्लेटफॉर्म्स इसी तरह की कमीशन लेते हैं. उन्होंने स्पष्ट किया कि 47.5 प्रतिशत कमीशन Meta की ओर से क्रिएटर्स से लिया जाने वाला कुल चार्ज है. हालांकि, Horizon प्लेटफॉर्म के जरिए सीधा परचेज करने पर कमीशन 25 प्रतिशत होगी. उनका कहना था कि यह अभी शुरुआती दौर है और काफी काम बाकी है. Meta ने हाल ही में घोषणा की थी कि Horizon Worlds के जरिए डिजिटल एसेट्स की बिक्री करने वालों से 47.5 प्रतिशत कमीशन लिया जाएगा. Meta के इस फैसले की आलोचना हुई थी क्योंकि अभी तक वह ऐप स्टोर पर होने वाली खरीदारी के लिए एपल के 30 प्रतिशत कमीशन लेने के फैसले के खिलाफ रही है. 

इसके अलावा मेटा ने डिजिटल टोकन लॉन्च करने की भी योजना बनाई है. इसे कंपनी के फाउंडर Mark Zuckerberg के नाम पर ‘Zuck Bucks’ कहा जा रहा है. Zuckerberg ने वास्तविक दुनिया जैसा एक्सपीरिएंस देने वाले मेटावर्स के अपने विजन के लिए ई-कॉमर्स और फाइनेंशियल टूल्स को महत्वपूर्ण बताया है. मेटा वीडियो गेम्स में ट्रांजैक्शंस के लिए इस्तेमाल होने वाले टोकन्स की तरह डिजिटल टोकन लाने पर विचार कर रही है. बहुत सी लोकप्रिय गेम्स में ट्रांजैक्शंस के लिए टोकन्स का इस्तेमाल होता है. 

 

यह भी पढ़ें

(Except for the headline, this story has not been edited by NDTV staff and is published from a press release)



Source link

Leave A Reply

Your email address will not be published.