Binance को अबु धाबी में सर्विसेज देने के लिए मिला लाइसेंस


एक्सचेंज को इससे एक्सपैंशन करने में मदद मिलेगी

खास बातें

  • Binance के पास UAE के तीन रीजंस में सर्विसेज देने के लिए लाइसेंस है
  • एक्सचेंज को इससे पहले दुबई और बहरीन में लाइसेंस मिला था
  • हाल के वर्षों में क्रिप्टो सेगमेंट तेजी से बढ़ा है

Binance के पास अब दुबई और बहरीन समेत संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के तीन क्षेत्रों में सर्विसेज देने के लिए लाइसेंस मौजूद है, क्योंकि क्रिप्टो एक्सचेंज को अबु धाबी में क्रिप्टोकरेंसीज सहित डिजिटल एसेट्स के ब्रोकर और डीलर के तौर पर ऑपरेट करने के लिए जरूरी अप्रूवल मिल गए हैं. अबु धाबी की फाइनेंशियल सर्विसेज रेगुलेटरी अथॉरिटी (ADGM) ने एक्सचेंज को परमिट दिया है. 

Binance को इससे एक्सपैंशन करने में मदद मिलेगी. ADGM ने कहा, “Binance को सैद्धांतिक अनुमति देकर हमें खुशी है. इससे वर्चुअल एसेट्स से जुड़ा इकोसिस्टम मौजूद होगा.” मिडल ईस्ट और नॉर्थ अफ्रीका रीजंस में ADGM वर्चुअल एसेट्स का सबसे बड़ा रेगुलेटेड अधिकार क्षेत्र रखने का दावा करती है. इन रीजंस के लिए Binance के प्रमुख Richard Teng ने कहा कि एक्सचेंज क्रिप्टो सेगमेंट की ग्रोथ और इसमें बदलाव करने में भागीदारी करना चाहता है. उनका कहना था, “Binance दुनिया भर के रेगुलेटर्स के साथ जुड़ रहा है जिससे क्रिप्टो इकोसिस्टम के लिए ग्लोबल स्टैंडर्ड्स बनाए जा सकें.” Binance इसके साथ ही दुबई वर्ल्ड ट्रेड सेंटर (DWTC) में एक ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी हब बनाने में भी मदद करेगा. 

बहुत से देशों के क्रिप्टोकरेंसीज को लेकर आशंका जताने के बावजूद UAE इस सेगमेंट को रेगुलेशन के जरिए आगे बढ़ाने की कोशिश कर रहा है. पिछले महीने की शुरुआत में UAE के प्रधानमंत्री Sheikh Mohammed bin Rashid Al Maktoum ने वर्चुअल एसेट्स के लिए एक बिल पर हस्ताक्षर कर कानून बनाया था. इसके साथ ही क्रिप्टो सेगमेंट पर नियंत्रण के लिए वर्चुअल एसेट रेगुलेटरी अथॉरिटी ( VARA) बनाई गई थी. नए कानून का उल्लंघन करने वालों को सजा देने का अधिकार भी VARA के पास है. यह उल्लंघन करने वालों पर जुर्माना लगाने के अलावा और उनके कारोबार को बंद कर सकती है. 

कानून के तहत, दुबई के निवासियों को क्रिप्टो से जुड़ी एक्टिविटीज में शामिल होने से पहले  VARA के पास रजिस्ट्रेशन कराना होगा. इसके अलावा क्रिप्टो एक्सचेंज जैसे वर्चुअल एसेट्स से जुड़े कारोबारों को भी VARA को डिटेल्स देनी होंगी. दुबई में क्रिप्टो सेगमेंट से जुड़े कानून को लागू करने का उद्देश्य इंटरनेशनल स्टैंडर्ड्स को लागू करना और इस इंडस्ट्री को बढ़ाना है. इससे क्रिप्टो इनवेस्टर्स के लिए सुरक्षा और पारदर्शिता को भी पक्का किया जाएगा. 

यह भी पढ़ें



Source link

Leave A Reply

Your email address will not be published.