Explainer : Russia Ukraine War के कारण Cryptocurrency सुर्खियों में क्यों है?


धन की तत्काल उपलब्धता

यूक्रेन सरकार के एक अधिकारी द्वारा ट्वीट किए जाने के बाद कि देश अब क्रिप्टोकरेंसी के माध्यम से अंतर्राष्ट्रीय सहायता स्वीकार करेगा, इस तरह से कथित तौर पर 10 करोड़ अमरीकी डालर से अधिक जुटाए गए. शुरू में दो फंड स्थापित किए गए थे: एक मानवीय और दूसरा सैन्य उद्देश्यों के लिए.

हालांकि, जैसे-जैसे हिंसा बढ़ी, दोनो कोष को विलय कर दिया गया और इसे पूरी तरह से यूक्रेनी सेना का समर्थन करने के लिए निर्देशित किया गया, जिसे बॉडी आर्मर, नाइट विजन गॉगल्स, हेलमेट, दवा और फ्रंटलाइन सेनानियों के लिए भोजन खरीदने के लिए इस्तेमाल किया गया.

सरकार ने कहा है कि क्रिप्टोकरेंसी में प्राप्त राशि अंतरराष्ट्रीय एजेंसियों से दी गई कुल धनराशि के संबंध में मामूली है, लेकिन बिचौलियों के न होने के कारण वह इन निधियों को और अधिक तेज़ी से प्राप्त करने में सक्षम था.

बैंक हस्तांतरण, वास्तव में, यूक्रेनी सरकार के खातों में आने में कई दिन लग सकते हैं. क्रिप्टोकरेंसी कुछ ही मिनटों में जमा कर दी गई थी.

यह क्रिप्टोकरेंसी की निर्विवाद उपयोगिता को प्रदर्शित करता है – जिस तरह से यह वर्तमान में संचालित और विनियमित है – विशेष रूप से संकट में देशों की वित्तीय और आर्थिक प्रणालियों का समर्थन करने में.

कनाडा में भी काम आई भी क्रिप्टोकरेंटी 

यूक्रेन (Ukraine) पर रूसी आक्रमण (Russian Attack) से कुछ दिन पहले, कनाडा (Canada) में हजारों लोग सरकारी स्वास्थ्य उपायों का विरोध करने के लिए ‘‘स्वतंत्रता काफिले” के नाम से आयोजित ट्रक ड्राइवरों (Truck Drivers) के विरोध आंदोलन में शामिल हुए. विरोध आंदोलन का समर्थन करने के लिए आयोजकों ने गोफंडमी प्लेटफॉर्म (Go Fund me ) पर एक धन जुटाने वाला अभियान शुरू किया. हालांकि, सोशल फंडिंग (Social Funding Platform) प्लेटफॉर्म ने यह आरोप लगाते हुए दान में मिले लगभग एक करोड़ अमेरिकी डालर को जब्त कर लिया, कि यह आंदोलन अपने दोनो उद्देश्यों, हिंसा और उत्पीड़न को रोकने और कनाडाई अधिकारियों द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों का पालन करने में विफल रहा.

द कन्वर्सेशन की रिपोर्ट के मुताबिक धन को बचाने और अपने आंदोलन को जारी रखने के लिए आयोजकों ने क्रिप्टोकरेंसी की दुनिया की ओर रुख करके त्वरित प्रतिक्रिया दी. उन्होंने इस तरह से कुछ ही दिनों में लगभग 10 लाख अमरिकी डालर जुटा लिए. 

यह कनाडाई कहानी इस बात का एक आदर्श उदाहरण है कि कैसे क्रिप्टोकरेंसी सामाजिक समर्थन की दोहरी भूमिका निभा सकती है, इसका उपयोग प्रतिबंधों से बचने के लिए भी किया जा सकता है.

साथ ही, यूक्रेन में कीव सरकार ने क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग करने के बारे में उत्साह दिखाया है, जिसने देश को अपनी रक्षा के लिए बहुत तेज़ी से महत्वपूर्ण वित्तीय सहायता प्राप्त करने में सक्षम बनाया है.

अकाउंटिंग पेशे के डिजिटल परिवर्तन की जांच करने वाले हमारे काम ने हमें क्रिप्टोकरेंसी की दुनिया में यह पता लगाने के लिए प्रेरित किया है कि यह कैसे संचालित होता है और इसे कैसे नियंत्रित किया जाता है. जैसा कि यूक्रेन और रूस के बीच सशस्त्र संघर्ष जारी है, क्रिप्टोकरेंसी को विनियमित करने में देशों की दिलचस्पी इतनी जरूरी पहले कभी नहीं रही.

अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंधों से बचने के लिए क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग करना

हालांकि, डिजिटल युद्ध कुछ लोगों को मानवीय और सैन्य दृष्टि से लाभान्वित कर सकता है, विशेष रूप से पारंपरिक वित्तीय प्रणालियों की सुस्ती को पीछे छोड़ते हुए, यह दूसरों के लिए उन पर लगाए गए अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंधों को दरकिनार करना संभव बना सकता है.

इस संबंध में, यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि कुछ स्रोतों के अनुसार, क्रिप्टोकरेंसी कई सामान्य रूसी नागरिकों के लिए भी एक सुरक्षित आश्रय के रूप में भी काम कर रही है, जो एक बैंकिंग प्रणाली में अपनी बचत को बचाए रखने की कोशिश कर रहे हैं, जिसमें रूबल का मूल्य गिरने के कारण कई तरह की समस्याएं हैं.

रूस पर आर्थिक प्रतिबंध कोई नई बात नहीं है। देश द्वारा 2014 में क्रीमिया पर कब्जा करने के बाद कई प्रतिबंध लगाए गए। यूक्रेन पर वर्तमान रूसी आक्रमण के बाद कई नए वित्तीय और आर्थिक प्रतिबंध लगाए गए हैं जो रूसी संगठनों और कुलीन वर्गों सहित व्यक्तियों को दंडित करते हैं. नतीजतन, रूसी रूबल का मूल्य उस बिंदु तक गिर रहा है जहां यूरोपीय बैंकों की कई रूसी सहायक कंपनियां दिवालिया होने के कगार पर हैं.

हालांकि, यहां भी, हल्के ढंग से विनियमित क्रिप्टोकरेंसी की दुनिया रूसी संगठनों, सरकारों और कुलीन वर्गों को प्रतिबंधों से बचने और उनकी वित्तीय गतिविधियों को जारी रखने में मदद कर सकती है.

क्रिप्टोकरेंसी निशान छोड़ती है

लेकिन क्या यह वास्तव में प्रतिबंधों से बचने का एक प्रभावी और निश्चित तरीका है? शायद नहीं, खासकर जब रूसी कुलीन वर्गों और बड़े संगठनों के स्वामित्व वाली बहुत बड़ी रकम की बात आती है। यह बहुत कम संभावना है कि इस समय प्रचलन में विभिन्न प्रकार की क्रिप्टोकरेंसी द्वारा इन राशियों को पूरी तरह से अवशोषित किया जा सकता है।

इसके अलावा, इस प्रकार के लेनदेन के लिए क्रिप्टोकरेंसी की उपयोगिता अस्थायी है. प्रतिबंधों के अधीन क्रिप्टोकरेंसी हासिल करने के बदले में दी जाने वाली रकम जैसे ही पारंपरिक बैंक खातों में आती हैं, कानून प्रवर्तन की बढ़ती विशेषज्ञता के कारण उसका पता लगाया जा सकता है. इस तरह क्रिप्टोमुद्रा भी कम अप्राप्य होती जा रही है.

युद्ध विनियमन में तेजी लाएगा

इस दृष्टिकोण से, यूक्रेन और रूस के बीच वर्तमान डिजिटल युद्ध अराजक क्रिप्टोकरेंसी दुनिया के नियामक अधिग्रहण में तेजी लाने के लिए उत्प्रेरक के रूप में कार्य करेगा ऐसे में यह प्रत्येक देश पर निर्भर करेगा कि वह कोई ऐसा तंत्र ढूंढे जो उन्हें आभासी मुद्राओं को विनियमित करने में मदद करेगा – इस उम्मीद के साथ कि इस पूरी प्रक्रिया में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक निश्चित सामंजस्य होगा.





Source link

Leave A Reply

Your email address will not be published.